Current time: 04-25-2018, 03:01 PM Hello There, Guest! (LoginRegister)


Post Thread Post Reply
Thread Rating:
  • 0 Votes - 0 Average
  • 1
  • 2
  • 3
  • 4
  • 5
चोरी और मज़ा एक साथ?
07-31-2014, 05:25 PM
Post: #1
Wank चोरी और मज़ा एक साथ?
मुम्बई के जुहू बीच पर बना एक खूबसूरत बंगला, रात के लगभग डेढ़ बजे का वक्त, बंगले के चारों तरफ 6 फिट ऊँची बाऊन्ड्री-वॉल. और इसी बाऊन्ड्री-वॉल के पास -



"चलें....," एक फुसफुसाती आवाज।



"पहले बीड़ी तो खत्म होने दे....," दूसरी मध्यम आवाज।



लगभग एक मिनट बाद -



"चल...."



दोनों ने पारदर्शी मास्क पहना और बाऊन्ड्री-वॉल के ऊपर चढ़ गये।



"कूदूं....."



"हर चीज पूछ कर करेगा क्या....कूद.."



'धप्प्'



'धप्प्'



दोनों लॉन के किनारे ऊँगी झाड़ियों में उलझे पड़े थे।



"साले, ... तुझे यही जगह मिली थी कूदने के लिये!"



"गलती हो गई, भाई.....दिन में निशान लगाया था लेकिन बारिश की वजह से....."



"चुप कर....."



दोनों जैसे-तैसे झड़ियों से आजाद हुये। लॉन में ऊगी घास को कुचलते हुये वो बंगले के ठीक पीछे पहुँचे।



"वो रस्सी कहाँ है?"



"सुबह तो इधर ही झूल रही थी...."



"साले, ... तू कोई काम ठीक तरीके से कर सकता है?"



"लगता है पुताई करने वाले ले गये...."



"अब ऊपर कैसे चढें? ... कुछ सोच"



दोनों के बीच एक पल मौन पसरा रहा।



"वाटर पाईप से भी तो ....."



"सोचता है  पर देर से ... थोड़ा जल्दी सोचना सीख....."



स्ट्रीट लाइट की रोशनी में वो दोनों साये जैसे नजर आ रहे थे।



"पहले मैं जाता हूँ...."



"तो जा....."



लगभग पाँच मिनट बाद दोनों छत पर थे।



"दरवाजा किधर है?"



"उस तरफ...."



उसने ऊँगली से इशारा किया।



दोनों दरवाजे के पास पहुच कर ठिठके।



"टार्च जला...."



'टिक्क्'



रोशनी चमकी।



"भोन्दू ... मेरे चेहरे पर नहीं, लॉक पर..."



टॉर्च का फोकस दरवाजे के लॉक पर जाकर ठिठका। एक चमकीला तार दरवाजे के लॉक में दाखिल हुआ।



'किर्र....कर्र...कट्ट्....'



दो मिनट पश्चात् -



"खुल गया... टॉर्च बुझा...."



पुनः अँधेरा व्याप्त हो गया।



स्ट्रीट लाइट की रोशनी यहाँ भी हल्की मात्रा में बिखरी हुई थी।



"दरवाजा बंद कर दूँ."



"भूतनी के, ... दरवाजा खुला रहने दे ... बाहर निकलने में आसानी होगी।"



दोनों सीढ़ियों से दबे पाँव नीचे उतरने लगे। थोड़ी देर बाद दोनों एक मध्यम सी रोशनी से भरे गलियारे में थे।



"तिजोरी किधर है?"



"आगे से दाँयें"



कुछ क्षणोंपरान्त वो एक दरवाजे के पास पहुँच कर ठिठके।



"यही है...."



एक बार फिर लॉक में वही चमचमाती तार प्रवीष्ट हुई।



'टिक्क्....'



"खुल गया...." बेहद फुसफुसाती आवाज।



दरवाजे को खोलकर दोनों भीतर दाखिल हुये। अंदर पूरी तरह धुप्प् अँधेरा था।



"अबे... टॉर्च तो जला"



'टिक्क्'



कमरे में रोशनी का एक गोला उभरा।



"तिजोरी किधर है?"



रोशनी का गोला कमरे की दिवालों पर भटकने लगा।



एकाएक -



"यह रही ..."



हल्की पदचापों की आवाज के साथ वो तिजोरी तक पहुँचे।



"बैग खोल और सारे औजार निकाल ..."

'चर्रSSSSSSS'



चैन खुलने की आवाज।



'किट्ट्...पट्ट्....धप्प्....धुप्प्.......'



कमरे में कुछ देर तक इसी तरह की आवाजें गूँजती रहीं। अगले पन्द्रह मिनटों में दो काम हुये।



पहला - तिजोरी को खोला गया।



दूसरा - तिजोरी में जो कुछ भी था उसे बैग के हवाले किया गया।



काम होने के बाद -



"काफी माल है... अब तो ऐश ही ऐश..."



"पहले यहाँ से निकल....."



दोनों ने दरवाजा बंद किया और गलियारे में आ गये। गलियारे से गुजारते हुये एक खिड़की के पास, दोनों के पाँव जहाँ के तहाँ थम गये।



कारण?



पुरूषों के शरीर की सबसे बड़ी कमजोरी, लड़की।



"... क्या माल है, यार?"



कमरे के भीतर बेड पर कोई सो रही थी।



"एकदम हिरोईन..."



"कितनी गोरी है साली... चाटने लायक..."



"इसकी चड्ढी तो देख..."



"अबे, चड्डी के अंदर वाले माल की सोच..."



"चूतड़ कितने गोल और चिकने है...! ऐसा माल हमारी किस्मत में क्यों नहीं हैं? ... बस एक बार मिल जाये तो..."



"ठीक कहता है ... इसके सामने तो अपने मुहल्ले की सारी आइटम फेल हैं...  एक बार इसकी चूत मिल जाए... थूक लगा-लगा कर चोदूंगा साली को!"



"तो चले फिर..."



"कहाँ?"



"कमरे में... इसे चोदने..."



"अगर चिल्लाई तो....."



"जब एक चोदेगा तब दूसरा मुंह बंद रखेगा..."



"तो चल....."



दोनों ने दरवाजा खोलने की कोशिश की लेकिन वो भीतर से बंद था। एक ने बैग से तार निकला और लॉक के साथ माथापच्ची करने लगा।



'क्लिक्'



लॉक खुल गया। दरवाजे को धीरे से खोल कर दोनों भीतर दाखिल हुये। अंदर एक नाइट लैंम्प जल रहा था। बिस्तर पर परी जैसी लड़की सपनों की दुनिया में विचर रही थी। पैसों से भरा बैग एक कोने में रखा गया।



फिर -



"अब...?" एक की फुसफुसाती आवाज।



"साली, कितनी चिकनी है.....एक बार हाँ कर दे तो अभी बीवी बना लूं..."



"ख्वाब मत देख... ऐसी किस्मत हमारी कहां... चोद और निकल ले..."



"बात तो ठीक है..."



फिर जो हुआ बहुत तेजी से हुआ। एक ने लड़की का मुँह दबोच लिया और दूसरे ने उसका पैर। लड़की हड़बड़ा कर उठी। लेकिन जब तक वह सभल पाती तब तक पैर पकड़ने वाला उसके कोमल शरीर पर लेट गया।



"हाथ हटा...."



सिरहाने बैठे चोर ने लड़की के मुँह से अपना हाथ हटाया।



ठीक उसी वक्त -



'लप्प्... लप्प्... '



ऊपर लदे चोर ने लड़की के गुलाब से भी ज्यादा नाजुक होंठों को अपने खुरदुरे होठों के बीच दबोच लिया और बुरी तरह उसके होठों को पीने लगा।



"कस के चूस, भाई ... पूरा मजा ले इस चिकनी का..." सिरहाने बैठा चोर कामुकता से मिमियाया।



लड़की गूं-गूं करती रही। उसने अपने होठों को आजाद करने की भरसक कोशिश की। लेकिन कामयाबी जब तक मिलती तब तक उसके होठों के साथ बलात्कार हो चुका था।



होठों पर उस चोर का ढेर सारा थूक लग गया था। मानों लड़की का होठ कभी चूसने को नसीब ही न हुआ हो। ऐसे चूसा था जैसे तंदूरी मुर्गी की टाँग झिंझोड़ी हो।

"यू बास्टर्ड्स... छोड़ दो मुझे... वरना मैं शोर मचा दूंगी...." 



"साली, शोर मचायेगी तो तेरी चिकनी बुर को पूरी रात चोद कर भोसड़ा बना दूंगा... किसी के काबिल नहीं रहेगी... कोई शादी नहीं करेगा ऐसी फटी चूत वाली से..."



ये सुन कर लड़की डर गई। उसका टोन तुरन्त बदला।



"प्लीज, मुझे छोड़ दो... मुझे खराब मत करो... प्लीज...."



"हाय मेरी चिकनी मुर्गी... आज तेरी चूत का मजा लिये बिना मैं यहाँ से जाने वाला नही हूँ... मेरी बात ध्यान से सुन... चुदना तो तुझे है ही... अब ये तेरे ऊपर है कि तू प्यार से चुदना चाहती है या जबरदस्ती..."



"प्लीज, तुम लोगों को जितने पैसे चाहिये ले लो लेकिन मुझे छोड़ दो..."



उसकी बात सुनकर दोनों चोरों की नजरें आपस में मिली। कुछ मूक इशारा हुआ और फिर -



"हमें जो लेना था वो ले चुके हैं... अब तो तेरी लेनी हैं... तेरे सामने दो रास्ते हैं... पहला यह कि मैं अकेला तुझे चोदूं और वो भी थूक लगा के और दूसरा यह कि हम दोनों मिल कर तेरी लें – एक चूत और दूसरा गांड – और  वो भी बिना थूक लगाए... बोल कौन सा रास्ता पसंद है? जल्दी बोल नहीं तो हम अपनी मर्ज़ी से शुरू कर देंगे!"



लड़की बड़ी असमंजस की अवस्था में फंस चुकी थी।



"मैं तुम लोगों का हाथ से कर दूंगी... प्लीज, मुझे खराब मत करो... मेरी शादी तय हो चुकी है... मेरी लाइफ बरबाद हो जायेगी... प्लीज..."



दोनों चोरों की नजर एक बार फिर मिली।



"चल ठीक है... मैं तेरी लाइफ नहीं बरबाद करूंगा लेकिन तेरी लूंगा जरूर..."



"मतलब?"



"मतलब मैं तेरी गांड मारूंगा... थूक लगा के... काम भी हो जायेगा और तेरे पति को पता नहीं भी चलेगा... अब जल्दी बोल..."



लड़की को ये विकल्प कुछ ठीक लगा।



"ठीक है लेकिन सिर्फ..."



"सिर्फ क्या?"



"सिर्फ तुम..."



दोनों चोरों में फिर कुछ मूक इशारे हुए और फिर –



"चल मानी तेरी बात......."



फिर वो सरहाने बैठे चोर से बोला, "तू बाहर जा... मैं इसकी लेकर आता हूं..."



दूसरे चोर को कोई ऐतराज नहीं हुआ।



"जम के पेलना, भाई... ऐसा माल दुबारा नहीं मिलेगा..."



दूसरा चोर कमरे के बाहर आ तो गया लेकिन दरवाजा बंद कर के उसकी झिर्री से भीतर का नजारा देखने से खुद को रोक नहीं पाया।



इधर अंदर -



"तेरा नाम क्या है?"



"तान्या....."



"कितने साल की है?"



"20..."



"कभी चुदी है..."



"नहीं"



"गांड मरवाई है?"



"नहीं"



चोर का हाथ धीरे से लड़की की चूची पर आ कर रुक गया। पूरी चूची मुट्ठी में नागपुरी संतरे की तरह कस गई। लड़की ने चोर का हाथ पकड़ लिया।



"आहSSSSS...! प्लीज, इतने जोर से नहीं..."



"एकदम हीरोइन लगती है तू... अगर तू मेरे साथ शादी कर ले तो मैं तेरे लिये अपनी जान भी से सकता हूं..."



"प्लीज, आपको जो भी करना है जल्दी से करके जाईये...."



"चला जाऊंगा... तू एक बार कह कि तू मुझे चाहती है..."



"नहीं, ये झूठ है... आईSSS..." 



लड़की की चूची को बहुत कस के मसला गया था।



"अगर एक बार कह दे कि तू मुझे प्यार करती है तो ये दर्द मीठी गुदगुदी में बदल सकता है... बोल..."



कुछ सिसकारियों के अलावा और कोई शब्द लड़की के होठों से नहीं फूटा।



'फ़च्च्'



कोई मोटी और सख्त चीज किसी छोटी सी जगह में जबरदस्ती दाखिल हो गई थी।



"नहीSSSSS... नहीं... प्लीज, नहींSSSSSSSS!"



"बहुत टाइट गांड है... ताकत लगानी पड़ेगी... वरना इतना टाइट छल्ला लौड़े को घुसने नहीं देगा..."



'भच्च्'



इस बार के धक्के में 100 होर्स पावर की ताकत थी। आठ इंच का हथियार रास्ता बनाता हुआ अंदर घुस गया।



"आह...! मार डाला...! प्लीज, छोड़ दीजिये...! प्लीज..., आई लव यू... अब तो निकाल लीजिये..."



"देर कर दी, मेरी चिकनी कबूतरी... अब तो शेर के मुंह में खून लग चुका है... शिकार को गप्प करके ही मानेगा... ये ले..."



गच्च्... गच्च्... पक्क्... फक्क...



चोर पूरी ताकत लगा कर लड़की को झिंझोड रहा था। लड़की बस मिमियाती रही। छूटने की कोशिश भी की। लेकिन बाज के पंजे में फंसी चुहिया भला छूट सकती है? उसका तो बस एक ही अंजाम होना था - मांस की  बोटी-बोटी होना।



10 मिनट की गांडफाड़ू पेलाई के बाद चोर किसी जोंक की तरह लड़की से चिपक गया।



"ले मेरा माल अपनी चिकनी गांड में... ले... और ले..."



लड़की को अपने भीतर कुछ फूलता-पिचकता हुआ महसूस हुआ। और फिर बौछार पर बौछार! न चाहते हुये भी उसकी आंखें मदहोशी से बंद हो गई।



5 मिनट बाद चोर लड़की के ऊपर से उतरा। उसकी सांस अब भी सामान्य नहीं हुई थी।



तभी दरवाजा खुला। दूसरा चोर काफी उत्तेजना में भीतर दाखिल हुआ।



"अब मेरी बारी है..."



इससे पहले की दूसरा चोर उस लड़की पर हावी होता पहले ने उसका हाथ पकड़ लिया – 



"मैंने अपना इरादा बदल लिया है..."



"यह क्या बात हुई..."



"ये मुझे प्यार करती है...."



"मुझे चढ़ने दे... फिर मुझे भी प्यार करने लगेगी....."



"तू नहीं समझता... प्यार एक बार होता है..."



"मैं पहले चढा होता तो?"



"पहले और बाद से कोई फर्क नहीं पड़ता... यह जिसकी किस्मत में होता है उसे ही मिलता है... माल उठा, अब निकलते हैं..."



"माल की परवाह किसे है?"



"औकात से बाहर मत निकल ...."



दोनों एक दूसरे के सामने थे। मरने-मारने पर आमादा। फिर ऐसा हुआ जिसकी उम्मीद किसी को नहीं थी।



'चिट'



एकाएक कमरे की लाइट जली।



दोनों ने देखा कि उस लड़की के हाथ में एक छोटा सा रिवाल्वर था।



और फिर – 



'धाँयSSSSSS'



ये गोली दूसरे चोर के उस जगह लगी जहाँ उसकी औकात थी।



"आहSSSSSSS... साली... कुत्ती..."



'धाँयSSSSSSSSS...'



दूसरी गोली उसकी खोपड़ी के अंदर गई।



अब बचा पहला। उसकी रूह और शरीर के जुदा होने का लम्हा सामने था।



"तुम मुझे प्यार करती हो... प्लीज, मुझे जाने दो..."



"चल जा..."



'धाँयSSSSSSS'



और गोली उसकी खोपड़ी के अंदर!



पहला चोर आखिरी साँसे लेता हुआ सोच रहा था कि वो दूसरे की बात मान लेता तो दोनों लड़की का मज़ा लेते, चोरी का माल आधा-आधा बाँटते और दोनों जिंदा रहते!



दूसरा सोच रहा था कि वो पहले की बात मान लेता तो उसे लड़की का मज़ा न सही पर आधा माल तो मिलता और वह जिंदा रहता!



दोनों को यह शिक्षा मिल गई थी कि जब दो मर्दों के सामने एक लड़की नंगी लेटी हो तो उन्हें आपस में झगड़ा नहीं करनी चाहिए। ... पर इस शिक्षा पर अमल करने के लिये वो जिंदा नहीं रहे।

= समाप्त = 



Find all posts by this user
Quote this message in a reply
Post Thread Post Reply




Online porn video at mobile phone


stefanie powers titsainett stephens nudeazarenka upskirtfrankie sandford upskirtfamily main galiyan or ganda mahoolland wale hijara xxx apne ma ke sathholly marie combs upskirtdiane neal nude picsalison stokke nudemylene jampanoi sexSexy video dard se chillte hue maggiegracenudesara paxton upskirttrisha sex kathaisex story.hopital main gand marwa aayioriya sex storynikki sanderson upskirtcheri oteri nudelauren budd toplesssex hindi story sarmili ammi ki chudai dekhi mama jasn ke saatkellie pickler oopsleona lewis nip slipaj dakhna muja love karka video sex downloaduncle mummy ki pet apna ras dalte chudai karte sex story partulrika johnson nudeasin pundailambe mote musal land se chudai ki lambi storikaylee carver toplessmera lund chusne ko tarasne lgibrooke langton sexbarbara bermudo up skirtjami gertz nude less than zerokathy lloyd toplessvidya balan nip slipsexy Jacqueline kapde chudwati hailynsey fonseca nudeneetu chandra nipplerenee o connor fakesmandira bedi nipplesemy jackson nudeflhaal gaand me karo sex kahanianFivestar hotel me chut marane ka majjakristen hager nudenip slips bollywoodjeisa chiminazzo nudecathy bach nudemarsha thomason sexandrea anders nudeasin exbiibelinda stewart-wilson porngadhe jaise land ne jabarjasti kuwari chut ki dard bhari chudai kigaby espino nudegerra zemanirosa costa nudeexbii asinnude images of rimi senkajal agarwal sex storymelinda hill nudemarine hinkle nudebelinda stewart-wilson nudemaa ne beteko chudai ka path diya storyshruti seth bikinitoccara jones sexladki ko uthwa ke kiya zabardasti sexx porn full hd sexxbridget regan nudeizabella miko sexandrea joy cook nudemandira bedi sexfanny lu nudekhoobsurat bahu ko property ka lalch de kar chodabehanki tarap sexy chudai stories behan ko apna ghulam bans k chodabachpan may jabardusti virginty tod diyaaj cook nudeNukrani Reema ki beti ki sath me chodaixxx maa ko kapra badlata dakha to chuda dia new manude marin hinklemerrin dungey nudeannie potts toplesskate gosslin nudejessie wallace upskirtmera lund chusne ko tarasne lgisuzi perry toplesskonkona sen nakedhindi sex stories-kapde fashionable sexy kuwari fashionable ladki ki sexy gaand chudaiadina barbu toplessMaa ki gare say tatty chodaisara butler nudesoledad fandino nudebebe buell nakedlene alexandra nude