Post Thread Post Reply
Thread Rating:
  • 0 Votes - 0 Average
  • 1
  • 2
  • 3
  • 4
  • 5
मेरी भाभी पुष्पा
01-07-2014, 12:02 PM
Post: #11
RE: मेरी भाभी पुष्पा
पुष्प बोली राजू भैया तुम साले मस्त चोदु हो ममता ठीक ही कहती थी कोलेज के दिनों में की तू जिसे चोदेगा साली को मस्त चोदेगा. मै बोला सालियों ऐसे नहीं चलेंगे बेडरूम की ओर. पुष्प बोली तो मेरे नए मर्द राजू कैसे चलोगे अपनी नंगी पुष्प और उसकी नंगी बहन ममता के साथ बेडरूम की ओर. मैं बोला तुम दोनों मेरा लंड पकड़ के चलो और मैं तुम दोनों की गांड सहलाता हुआ चलूँगा. पुष्प ने मेरे लंड की जड़ पकड़ की और ममता ने सुपाडा.हाय मस्त मज़ा आया जब दो २१ २२ साल की नंगी जवानियों ने मेरे लंड पर हाथ फिराया मुझे तो और मस्ती और गन्दी हरकतें करनी थी दोनों की चूत को चोदना था इसलिए मैं बोला नहीं पुष्प तू मेरा सुपाडा सहला और ममता मेरे लंड की जड़ मेरी इस तमन्ना को पूरा कर मेरी जान की तू अपने राजू का सुपाडा सहलाये. ममता बोली मेरे मर्द को भी मैं राजू ही बोलूंगी आज से ऐसे लगेगा जैसे तू चोद रहा है. पुष्प बोली मैं भी श्री को राजू बोलूंगी और तेरे लंड के सपने लेकर चुदा करुँगी. हम तीनो पुरे नंगे बेडरूम तक आ गए सामने वो बेड पडा था जिस पर रोज़ पुष्प चुदती थी बेड क्या वो साली कुतिया पुरे घर में कहीं भी चूत मरवाती थी मैंने खुद गवाही बनी थी की वो ड्राइंग रूम और जाने कहाँ कहाँ चुदाने की शौक़ीन थी. बेडरूम के दरवाजे पर पहुँच के मैं बोला पुष्प मेरी जान अब हम मरीज डॉक्टर का रोल खेलेंगे. तू नंगी अपने ही बिस्तर पर पूरी चौड़ी टाँगे करके लेट जा मैं डॉक्टर और ममता नर्स बनेगी तू रोग बताना फिर तेरी चुदाई होगी ममता के साथ इसी बिस्तर पर मेरे लौड़े से. और वो पहली चुदाई की कहानी कब बतायेंगी हम दोनों पुष्प ने अपनी कुक की आवाज के साथ पूछा. सब होगा मेरी जान पुरी चुदाई होगी और फुल मस्ती अभी तो दो दिन है तेरी चूत की सेवा करने को समझ ले इन दो दिनों में दस से जयादा बार तेरी चूत मारूँगा और इतनी ही बार तेरी इस गरम बहन ममता की भी .पुष्प सिसकी मारते हुए आगे बड़ी और अपने चुदाई के बेड पर लेट गयी. मैंने बोला पुष्प मेरी गरम चूत अपनी दोनों टाँगे जीतनी चौड़ी हो सकती है करले मुझे तेरी गीली चूत और उसमें भरा हुआ पानी दिखना चाहिए. पुष्प ने अपनी टाँगे खूब चौड़ी की और अपनी गीली और कामुक चुदासी चूत में दो उंगली डूबाई और उसे चूसते हुए बोली राजू भैया आ जाओ लौड़ा भी तना है और चूत भी मस्त गीली है अपनी सपनो की रानी पुष्पा को चोद डालो मेरे कामुक मर्द मेरे राजा मेरी चूत के रसिया मुझे पता है मेरी जवानी के पहले उभार के आने के साथ साथ तुम मेरे गोरे और चिकने जिस्म से अपना लौड़ा रगद के झाड़ना चाहते थे आओ मेरे मर्द अपनी पुष्पा को चोद दो मेरे राजू मुझे अपने आजू भैया का मस्त तना हुआ नौ इंच का लौड़ा चाहिए ये ममता बोल न साली कुतिया अपने इस राजू को की आगे बड़े और पुष्पा की गोरी चूत को चोद चोद के लाल करदे. मेरे लंड में और तनाव आ गया क्योंकि यह मेरी फंतासी थी की पुष्प मुझे अपना मर्द बोलके चुदने का निमंत्रण दे और वो साली नंगी कुतिया यही कर रही थी मेरा मन हुआ आगे बढूँ और उसकी गर्म चूत का बुखार उतार दूँ मैंने ममता की गांड को जोर से दबाया वो सिसक पड़ी और बोली जीजी तुम गलत कर रही हो इतनी जल्दी चुदाई के मैदान में कूद पडोगी तो मर्द का मज़ा नहीं ले पाओगी तुमने ही तो सिखाया है मुझे की मर्द को दो से तीन घंटे तक तड़पा के चूत देनी चाहिए ताकि वो पागल कुत्ते की तरह चूत पर टूट पड़े और कुतिया समझ के लौंडिया को चोद दे. पुष्पा बोली साली ममता ये राजू पिछले तिन घंटे से मेरी आँखों के आगे नौ इंच का लौड़ा लहराए घूम रहा है एक बार मेरी चूत को इस लंड का स्वाद ले लेने दे.ममता ने मेरे लौड़े को खूब जोर से दबाया उसका सुपादा खूब फुल गया और वो कुतिया बोली ले जीजी अपने नए जीजा का मस्त लौड़ा देख जा मेरे जीजा मेरी जीजी पुष्प की गीली गरम और मस्त चूत चोद के उसे अपनी बीवी बना ले और उसकी गरम छाती पर वीर्य गिराना ताकि मैं तेरा वीर्य चाट सकूँ. मैं आगे बड़ा और मैंने अपने तने हुए लंड को पुष्प की चूत के मुहाने पर रख दिया और उसकी सेक्सी आँखों में देख के बोला....


Visit this user's website Find all posts by this user
Quote this message in a reply
01-07-2014, 12:02 PM
Post: #12
RE: मेरी भाभी पुष्पा
बोल मेरी रानी तेरी चूत का बुखार उतारु या पहले तेरी और ममता की जवानी की मस्ती लुटू. पुष्प ने अपनी दो उंगलियाँ फिर से अपनी गीली चूत में डाली और इस बार चूत में उंगलियाँ हिलाते हुए मादक और कामुक स्वर से बोली हाय राजू भैया आओ न एक बार अपनी चुदासी पुष्पा की चूत में लौड़ा पेलोगे तो लंड की सारी अकड़ भूल जाओगे बार बार मुझ रंडी पुष्पा की कामुक चूत ही मांगोगे मुझे अपनी बहन या भाभी मान के नहीं एक सड़क की चुदासी औरत समझ के चोद दो मेरे कामुक मर्द. पुष्पा की गीली चूत में दोनों उंगलियाँ बार बार अन्दर बाहर हो रही थी और उसके चुत रस में भीग के फच फच की आवाजे कर रही थी इधर ममता ने भी खड़े खड़े अपनी टाँगे फैलाई और अपनी दो उंगलियाँ चूत में गच से पेल के जोर से चिल्लाई आआ जीजी बोल न इस नए जीजा को मेरी भी चूत का बुखार उतार दे. पुष्पा ने अपने दुसरे हाथ से मेरा तना हुआ लंड पकड़ लिया और मचल के बोली ममता इतना गरम और मोटा लौड़ा है इसको पहले मैं अपनी पानी से भरी चूत में लुंगी फिर तू इससे चुदना. ममता बोली जीजी क्यों न हम दोनों पिछली बार की तरह जैसे सुभाष भैया का लंड ..... पुष्प की आँखें चौड़ी हुई और उसके मुंह से निक़ल पड़ा..साली कुतिया मैंने आगे बढ़कर खड़ी हुई ममता की चूत के पास लौड़ा लहराया उसने अपने हाथ से लंड का सुपाड़ा मसला मैं सिसक उठा मगर मैंने ममता पूछा यह सुभाष कौन है जिसने तुम दोनों की चूत एक साथ बजाई है और मुड़के पुष्प को देख के बोला क्या श्री जानता है सुभाष और तेरी चुदाई का किस्सा. पुष्प बोली नहीं वो नहीं जानता. मैंने बोला आज तुम दोनों मुझे अपनी पहली चुदाई की कहानी सुनाओ क्या तुम दोनों सुभाष से पहले पहले चूदी थी या किसी और से और मेरे लौड़े का मज़ा लूटो.मैंने लंड ममता के हाथ में दे रखा था और वो साली उसे मसल मसल के खूब लाल कर रही थी और मेरी आँखें उसकी नंगी बहन की चूत मारने के मूड में आ गयी थी.पुष्प ने महसूस किया और मेरे को फिर पुकार लिया आओ न राजू मेरे नंगे मर्द मेरे प्यारे भैया मेरे चिकने लौड़े आओ राजू अपनी फंतासी पूरी करो अपनी पुष्प की नंगी जवानी के ऊपर लंड का प्रहार करो और पुष्पा को चोद के अपने मन की हर कामेच्छा की पूर्ति करो देखो पुष्पा पूरी नंगी और गीली चूत लिए तुम्हारे लंड का इंतज़ार कर रही है. मैंने मुड़कर लंड को फिर पुष्प की चूत के मुंह पर रखा और अपना हल्का सा जोर लगाया बाकी काम उस रंडी ने खुद किया और अपनी गांड उचका के मेरे लौड़े का ३ इंच हिस्सा अपनी गोरी और गर्म चूत में ले लिया आह क्या भट्टी जैसी गर्म चूत है तेरी साली मादरचोद कुतिया तू मेरी रंडी है. पुष्पा ने अपना चुतड़ और उचकाया और मेरे लौड़े को ५ इंच तक अन्दर ले लिया और सिस्कार कर बोली हाय राजू हाय मैं मर गयी रे क्या गज़ब का मोटा लौड़ा है तेरा अगर पता होता तू इतना सॉलिड मर्द है तो तेरे लंड से अपनी नथ उतरवाती मेरे राजू मेरे मर्द. मेरे लंड को भी इतनी गर्म चूत पहली बार नसीब हुई थी मेरा लौडा भी उसकी चूत में और फूल गया और मैंने और जोर लगाके उसकी गीली चूत ने अपना पूरा लौड़ा उतार दिया. इधर ममता ने आगे बदकर मेरे हाथों की पट्टी खोलनी शुरू की मैंने पूछा क्यों तो साली ने अपनी चूत मेरे मुंह से सटाकर चुप रहने को बोला और मैंने भी उसकी गीली चूत का रस पान करना शुरू कर दिया क्या नज़ारा था एक तरफ मेरे सपनो की प्यास मेरी पुष्पा मेरे से नंगी होकर मन लगाकर चुद रही थी और दुसरे उसकी बहन ममता पुरी नंगी होकर मेरी सेवा कर रही थी और यह खेल अभी दो दिन चलना था कोई रोक नही कोई टोक नहीं. मैं अपनी किस्मत पर रश्क कर रहा था. तभी ममता ने मेरे हाथों की पट्टियाँ खोल के बोला आओ राजू अपनी पुष्पा से सीने के कबूतरों को अपनी मुट्ठी में भरकर उसकी चुदाई का आन्नद उठाओ ऐसा चोदना पुष्पा को जैसे वो तेरी अपनी रंडी हो साली की चूत में जड़ तक लौड़ा डाल के रगड़दो इस कुतिया की बच्चेदानी में लंड पेल के देखो की तेरा कितना बड़ा बच्चा पैदा कर सकती है साली की बच्चेदानी में वीर्यपात करो मेरे राजू . यह मेरे लिए कोई बड़ा काम नहीं था पुष्पा की चूत में नौ इंच का लंड पेल रखा था मैंने उसे एडजस्ट करके उसकी बच्चेदानी में घुसेड दिया और फिर मस्त होके पुष्पा की चूचियां दबोच ली पुष्पा भी ऐसे ऐंठ गयी जैसे उसकी छाती तक लंड घुस गया हो उसकी छातियाँ ठोस और और भी ज्यादा उभर के आगे आ गयी मैंने उसकी दोनो चूची एक एक हाथ में पकड़ ली और उस कुतिया के ऊपर चढ़कर उसकी चूत मारते हुए घुड़सवारी सी करने लगा पुष्पा की सिसकारी अब गालियों के साथ आने लगी और चोद साले कुत्ते चोद अपनी पुष्पा की चूत का धुँआ निकाल दे साले हरामी राजू चोद अपनी भाभी को अपनी जवान बहन को अपनी नंगी पुष्पा को मैंने उस कामिनी पुष्पा के ऊपर झुक के उसके रसीले होंठों को अपने होठों से दबा लिया और पुष्पा की चुदासी चूत पर धक्के लगाने की रफ़्तार बड़ा दी. पुष्पा इससे मचल गयी उसके होंठों से दबी दबी सिसकारी निकल रही थी और मुंह के कोरों से लार बहने लगी मैंने कामुकता में डूब के उसकी लार चाट ली, मेरी मस्त प्यासी पुष्पा के होंठों की लार अमृत लग रही थी, मैं इस वक़्त इस कुतिया का मूत भी पि जाता लार तो क्या था. मुझे लार को चाटते देख पुष्पा और गीली और कामुक हो गयी और अपनी टाँगे फैला कर मेरे लौड़े को और सुविधा देने लगी मैं भी मस्त होकर यह भूल गया की रूम में नंगी ममता भी लंड का वेट कर रही है और पुष्पा भी भूल गयी की वो अकेली नहीं ममता भी मेरे लंड की प्यासी है. ममता ने दस पंद्रह मिनट तो हमारी कामलीला देखी फिर आवाज लगा दी....

Visit this user's website Find all posts by this user
Quote this message in a reply
01-07-2014, 12:03 PM
Post: #13
RE: मेरी भाभी पुष्पा
अरे मेरे चोदु जीजा तुम्हारी एक जवान और मस्त चुदासी साली यहाँ नंगी होकर इंतज़ार कर रही है और तुम सिर्फ साले अपनी नयी बीवी की गर्म और गीली चूत के दीवाने हुए पड़े हो. मैंने पुष्पा की चूत चोदते चोदते बोला ममता मेरी साली कुतिया मेरी पुष्प की यह गोरी चूत इसकी सफ़ेद छाती इनको चूसने और चोदने की मेरी जाने कब की कल्पना थी की मैं इन दोनों का सुख लूट सकूँ आज पहली बार इन दोनों को एक साथ अपने नंगे जिस्म से सटा पा रहा हूँ चोदने दे मेरी जान मुझे पुष्पा की गर्म चूत चोदने जी भरके दे. ममता आगे बड़ी और मेरे नौ इंची लंड को जो पुष्पा की गीली चूत में फच फच की आवाज के साथ अन्दर बाहर हो रहा था उसका जड़ वाला हिस्सा पकड़ के बोली मेरे जीजा मैंने यह नहीं बोला की तू पुष्पा जीजी को न चोद मैं यह बोली की अपनी साली इस रंडी ममता की चूत का भी ख्याल कर. मैंने अपने मस्त लौड़े को पुष्पा की छुट से बाहर निकला लंड के निकालते ही पुष्पा सिसकारी मार के बोली हाय राजू भैया क्या क्या तुमने अपनी कामुक पुष्पा को दिया हुआ अनमोल तोहफा ले लिया डालो मेरी इस कुतिया जैसी चुदासी चुत में राजू भैया अपना मोटा लौदा डालो.मैंने आगे झुक कर पुष्पा के होंठ चुसे और उसकी नाक का कामुक तिल जीभ से सहला दिया मुझे पता था मेरे लौड़े की दीवानी पुष्पा अब मेरे वीर्य पात से पहले इतनी गर्म हो चुकी होगी की अगर उसके आगे असली कुत्ता भी होता तो साली उसका लौदा चुत में घोंट लेती. ममता ने इतनी देर में झुक कर मेरे लौड़े का सुपाडा चाटा और चूसा फिर मेरे लंड को पुष्पा की चूत के मुहाने पर रख के बोली लो जीजा मारो मेरी पुष्पा जीजी की चूत और इस बार जब तक झड न जाओ चोदते रहो .मैंने भी अपने लंड को एक ही झटके में पुष्पा की चूत में उतार दिया पुष्पा ने अपनी दोनों छातियाँ फिर छत की ओर उठा दी इस बार उसकी इन मादक और मर्द के थोस हाथों से मर्दन मांगती हुई छातियों को उसकी बहन ममता ने पकड़ लिया और पुष्पा के कान के पास जाके बोली आओ जीजी रति सुख का भरपूर आनंद लो जीजा के लौड़े की झडान का सुख अपनी इन मर्द का लौड़ा खड़ा करदेने वाली छातियों पर लोगी या चूत के भीतर.मैंने पुष्पा की चूत में लौड़े के धक्के मारते हुए पुछा बोल मेरी रानी मेरी भाभी पुष्पा मैं झड़ने वाला हूँ सुबह तो तेरे मुंह के अन्दर अपना रस उड़ेल चुका हूँ अब बता तेरी इस गर्म चूत को तर करूँ या तेरी इन सफ़ेद गोल मस्त चुचियों को. पुष्पा जिसने अपनी टाँगे अपने दोनों गुदाज हाथों में थामी हुई थी और अपनी गर्म चूत पर मेरे लौड़े का प्रहार का आनंद उठा रही थी पुष्पा में मस्त कामुकता के साथ बोला राजू भैया चूत के अन्दर मत डालो इस काम को तुम रात के लिए रखो मैं तुम्हारे बच्चे की माँ बनने के लिए राजी हूँ अभी तुम अपना वीर्य मेरे दोनों सफ़ेद कबूतरों पर डालो और फिर देखो तुम्हारे लिए क्या सरप्राइज है. मैंने अपने लौड़े को पुष्पा की गर्म भट्टी जैसी चूत से बाहर निकाला और ममता से बोला ले रंडी अब मेरा लौड़ा चूस के पुष्पा की गोल छातियों पर वीर्यपात करवा. ममता ने आगे झुककर मेरे लौड़े को मुंह से चुसना और पुष्पा ने लंड के बाकि हिस्से को अपने गुदाज हाथों से मसलना शुरू किया मैंने गर्म होकर दोनों बहनों को मा बहन की गाली देनी साली कुतिया हरामजादी कहना शुरू कर दिया और झडान के करीब करीब पहुच कर पुष्पा की मस्त नर्म सफ़ेद चुचियों पर वीर्यपात करना शुरू कर दिया और भरपूर वीर्य गिराके वहीँ पुष्पा के बगल में लेट गया.मेरे लेटते ही ममता ने फिर से मेरे लौड़े को अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगी. इधर पुष्पा मेरी चुदाई से भरपूर संतुष्ट और थक चुकी थी उसने पीठ के बल लेटे लेटे मेरे लौड़े के निचे हाथ डाल के मेरे टट्टे सहलाने शुरू कर दिए. मेरे दिमाग में पुष्पा की कही बात याद आई मैंने पूछा मेरी जान मेरी भाभी पुष्पा क्या सरप्राइज है तेरे पास अपने चोदु राजू भैया के लिए. पुष्पा मधुर सी हंसी हंसी और ममता को बोली जा ममता राजू भैया का लौड़ा छोड़ और इसका इनाम ले आ. ममता तुरंत मुझे छोड़ के रूम के बाहर चली गई.

Visit this user's website Find all posts by this user
Quote this message in a reply
01-07-2014, 12:03 PM
Post: #14
RE: मेरी भाभी पुष्पा
जब वो लौटी तो मेरी आँखें फ़ैल गई क्योंकि उसके साथ एक कमसिन और नाजुक कली कोई १८ से १९ साल की जो सिर्फ एक फ्रॉक और चड्डी में थी मैंने पूछा यह कौन है ममता के कुछ बोलने से पहले ही पुष्पा बोली यह मेरी पड़ोसन ऋतू है और यह मेरे साथ मस्ती करती है जब भी इसका पति और श्री बाहर होते है दिन में भी काम के समय और रात को कभी कभी जब दोनों एक साथ टूर पर होते है. मैंने बोला ओह तो तुम दो नहीं तीन मस्त चूतें मिलकर मेरा लंड पान करोगे. पुष्पा बोली देखते जाओ राजू भैया तुम्हे कैसा कैसा मज़ा दिलाती हूँ मेरा एक काम करना होगा तुम्हे लेकिन. मैंने ऋतू को अपने पास आके लौड़ा चूसने का इशारा किया और ममता को भी पास बुलाया और बोला आजा कुतिया अपने नए जीजा का वीर्य चाट मेरी पुष्पा की सफ़ेद और गोल छाती से. ऋतू मेरे लंड को पकड़ के बोली हाय राजू मैं चाट लूं क्या मुझे वीर्य चाटना बड़ा पसंद है. मैंने हाथ बढाकर ऋतू की फ्रॉक फाडनी शुरू की और चर्र की आवाज के साथ फ्रॉक फट गयी साथ ही ऋतू के दोनों नुकीले चुचे मेरे हाथों में आ गए मैंने उनकी नोंक मसलते हुए कहा तू चाट ले मेरी नयी कुतिया. ऋतू ने आगे झुककर पुष्पा की छाती की नोंक चुसी और फिर पुरे मन से पुष्पा की छाती चाटने लगी आखिर वो और पुष्पा आपस में मस्ती करती ही थी तो कोई लाज शर्म के बंधन की बात भी नहीं थी और ऋतू की गर्म जीभ के स्पर्श के साथ पुष्पा की जोर से सिसकारी मारने लगी आःह्ह्ह ऋतू मेरी जान मेरी रंडी चूस ले अपनी कामुक जवान पुष्पा की छाती पर गिरे हुए उसके मर्द का वीर्य जैसे पिछली बार .....बोलते बोलते पुष्पा अचानक रुक गयी. इधर मुझे एक नयी बात और पता चली की दोनों कुतियाये अपने अपने मर्द का वीर्य एक दुसरे को चटवाती भी है.मैंने सोचा की साली पुष्पा को अब चोदुंगा और यह राज भी पता करूँगा.

Visit this user's website Find all posts by this user
Quote this message in a reply
01-07-2014, 12:03 PM
Post: #15
RE: मेरी भाभी पुष्पा
मैंने अब सोचा की इन तीनो रंडियों को मस्त गाली दे देके चोदा जाये मैंने ममता को अपने पास बुलाया और बोला आजा मेरी रांड आके अपने जीजा का लौड़ा चूस और बता तू सबसे पहले कैसे और किससे चूदी थी. ममता ने आगे आकर मेरे तने हुए लौड़े के सुपाड़े को अपनी जीभ से सहलाया और मेरे लंड को चाटते हुए बोली जीजा. मैंने कहा साली ममता कुतिया जैसी चुदासी चुत वाली रांड मेरा नाम राजू है. ममता बोली राजू मैं सबसे पहले अपनी नर्स की ट्रेनिंग में चूदी थी मैं क्या मेरे बैच की सभी लड़कियों को चुदाई के लिए वही तैयार किया गया था और एक ही दिन भरपूर चुदाई की गयी थी. यकीं मनो मुझे और मेरी दो सहेलियों को छोड़कर सब अपने अपने बॉयफ्रेंड से चुद चुकी थी और उस दिन फिर एक नए लौड़े का स्वाद लिया था सबने. कैसे मैंने पूछा. मस्त कामुक ममता ने बोला मेरी नर्स की ट्रेनिंग में दो दिन का सिलेबस था पुरुष के जवान और कामुक अंग और उनका पूर्ण परिचय. इसे सिखाने के लिए एक लेडीज टीचर भी थी हम सब लडकिया जवान और मस्त चुदासी चूत वाली थी और पुरुष के अंग का पाठ पड़ने को पूरी तरह तन और मन से रेडी थी अचानक क्या हुआ की लेडीज टीचर को अवकाश पर जाना पड़ा और एक मर्द को वह पाठ पडाना पड़ा हम सब लड़किया खुश हो गयी पर उस टीचर की एक शर्त थी की कोई एक लड़की इस पाठ के प्रैक्टिकल में उसका साथ देगी. यहाँ मुसीबत यह थी की सब लडकिया इस काम में साथ देना चाहती थी.खैर लाटरी से तय हुआ कौन उस टीचर का साथ देगी और इसमें मेरी सहेली स्वाति जीत गयी. स्वाति मेरी क्लास की सबसे सेक्सी और मादक लड़की थी. उस टीचर ने स्वाति को अपने पास बुलाया और क्लास में सबके सामने उसकी दोनों चूचियां अपने हाथों में दबोच के बोला देखो यह दोनों एक औरत की चूची होती है जिसको बार बार दबाने से एक मर्द का लंड खड़ा होता है. और तुम सबको अगर एक मर्द का लंड देखना हो तो आओ मेरा पेंट निचे उतारने को जो लड़की चाहे आगे आ सकती है. यह सुनकर मैं आगे बड़ी और उस टीचर की पेंट उतार दी तुम मानोगे नहीं उसका ८ इंच का लौड़ा पेंट में कच्छे के अन्दर तना हुआ खड़ा था और मैंने बिना किसी इरादे के उसका लंड कच्छे के ऊपर से पकड़ लिया. अह टीचर ने सिसकारी मारी और स्वाति की चूची और जोर से दबोच ली उधर स्वाति भी सिस्कार उठी.इस पर मैंने पूछा क्या हुआ सर तो वो बड़ी ही गन्दी भाषा में बोले साली मादरचोद एक मर्द का लौदा दबोच रखा है और पूछती है कुतिया की औलाद इसे बाहर निकल कर पूरी क्लास को दिखा तेरी सहेलिया भी तो देखे की तू किस लंड को पकडे हुए है. ममता निकाल साली हरामजादी कुतिया की औलाद निकाल बाहर अपने सर के लौड़े को उसके अंडरवियर से. मैंने मस्त होकर सर की अंडरवियर में हाथ डाला और उसके लौड़े को नंगा गरम लंड को मुठ्ठी में दबोचा और उसके फुले हुए सुपाडे को अपनी उंगली से कुरेदते हुए बाहर निकाला. उसको देखकर पुरे क्लास में एक ही आवाज आई हाय राम इतना मोटा लौड़ा इससे अगर स्वाति चुदेगी तो मर जाएगी. पूरी क्लास एक साथ बोली सर इस लौड़े से स्वाति नहीं ममता को चोद डालो साली इतनी चुदासी है की हाथी का लंड भी खा जाएगी. मैंने कहा ममता तेरी मस्त कहानी चलती रहेगी तब तक ए ऋतू इधर आ कुतिया की चूत जैसी रंडी आ मेरा लौड़ा चूस और ममता को अपनी चूत चटवा. ऋतू ने आगे बढ़कर मेरे लंड को मुंह में लिआ और अपनी गीली चूत ममता के मुंह के पास ले जाके बोली ममता अपनी जान ऋतू की गर्म गर्म चूत जी भरके चूस और मैं तब तक अपने नए मर्द का लौड़ा तैयार करती हूँ अगली चुदाई के लिए. इतना बोलकर ऋतू मेरे लौड़े पर झुक गयी और अपनी चूत को उसने ममता के मुंह के ऊपर रख दिया ममता ने भी अपनी कहानी रोक दी और ऋतू की गीली और कामरस से डूबी चूत के गीलेपन को चाटने लगी.आआआअह्ह धीरे मेरी जान. ऋतू के मुंह से आवाज निकल पड़ी मैंने भी बोला साली ममता एक तो यह रंडी अपनी चुदाई का मौका दे रही है और ऊपर से तू इसकी चूत अगर प्यार से नहीं चाट सकती तो आ अपनी बहन पुष्पा की चूत चाट मैं इसकी चूत में अपनी उंगली पेल के इसे मर्द का अहसास करवाता हूँ और तू अपनी चुदाई का किस्सा चालू रख बहन की लौड़ी अभी तो सभी ने सुनाने है अपनी अपनी चुदाई के किस्से अभी कितना समय लगाएगी तू अपनी चुदाई के किस्से को चल तू टाइम ले मगर बहन की चूत चाटती रह और मस्त पुष्पा को तैयार कर अगली चुदाई के लिए. ममता ने हामी भरते हुए पुष्पा की चूत पर मुंह रख और इधर मैंने ऋतू की चूत में उंगली पेल दी.

Visit this user's website Find all posts by this user
Quote this message in a reply
01-07-2014, 12:03 PM
Post: #16
RE: मेरी भाभी पुष्पा
आह आह ऋतू के मुंह से मस्त सिसकारी सुनी तो मैंने उसकी चूत के अन्दर उंगली घुमाते हुए उसके जी’ स्पॉट को सहलाना शुरू किया. मुझे मालूम ही नहीं था की साली का पति आज तक उसके इस मादक अंग तक नहीं पहुंचा है. और जैसे ही ऋतू की सिसकारी की आवाजे और तेज होती गयी मैंने देखा की पुष्पा की आँखें कुछ तो ममता से चूत चटवाने की वजह से और कुछ ऋतू की सिसकारी की वजह से चौड़ी हो गयी मुझे इस समय पुष्पा और मादक और चुदासी और हसीं लगने लगी मैंने पुष्पा की ओर खिसक कर उसके होंठ चूसने शुरू किये और अपनी लार उसकी लार के साथ मिक्स कर दी और ममता को इशारा किया की वो आगे आकर मेरी और पुष्पा के होंठ चुसाई से निकल रही लार को चाटे इधर मेरी ऊँगली ऋतू की चूत को इतना मस्त चोद रही थी की उसकी चूत से पानी बहने लगा मुझे महसूस हुआ की मादक ऋतू अब झड़ने की कगार पर है मैंने पुष्पा और ममता से बोला आओ सालियों देखो यह कुतिया अपनी चूत का पानी छोड़ने को तैयार है इसकी चूत के सामने आकर इसकी चूत का रस पीलो. पुष्पा ने यह सुनते ही ऋतू की चूत के ऊपर अपनी मस्त पैंटी रख दी और बोली आओ ऋतू मेरे मर्द के लिए एक और मस्त स्वीट डिश दो. मैंने और ममता ने पुष्पा की ओर देखा और पूछा यह क्या है मेरी जान. पुष्पा अपनी कोमल और नाजुक उंगली मेरे मुंह पर रखती हुई बोली सब बताउंगी मेरे मर्द राजू पहले इसे अपनी चूत के रस से मेरी पैंटी भिगो लेने दो.इधर पुष्पा का यह कहना था उधर ऋतू ने कामुकता की सब हदे पार करते हुए पुष्पा की पैंटी को चूत में घुसेड लिया और अपने कामरस से पैंटी तर कर दी साथ ही साथ उसकी चूत से पानी बहने लगा जिसे मादरचोद नर्स ममता ने चाटना शुरू किया और पुष्पा ने इधर अपनी गोल गोल छातियाँ मेरे सामने लहरा दी और बोली आओ राजू भैया अपनी भाभी पुष्पा की नर्म और जवान छाती चुसो जिसके सपने लेकर तुमने कई साल मुठ मारी है. मैंने पुष्पा की छाती को अपने हाथ से सहलाया और बोला मेरी जान मेरी मादक चूत पुष्पा तेरी गर्म चूत में लौड़ा और तेरी छाती को अपने हाथों से जी भर के मसलने का सपना मैंने हर रात देखा है मैं हर रात तुझे अपने हाथों से मादरजात नंगी करके अपनी बीवी बनाके अपने बिस्तर पर चोदता था और लंड को झाड़ के तेरे मुंह पर अपना वीर्यपात करता था और तू उस वीर्य को अपनी उंगलियों से लेकर अपनी जीभ से चाटती थी ये मेरी कामुक चुदासी पुष्पा आओ मेरी जान तेरे साथ सोची गयी हर इच्छा पूरी करूँ. आ बहन की लौड़ी तेरी नर्म और जवान छाती चुसू और तेरी गीली और फूली छुट को मारू और पुछू की तूने ऋतू की चुत में पैंटी क्यों डाली और तू इसके मर्द का वीर्य कैसे पीती है क्या तू श्री के वीर्य से संतुष्ट नहीं है या कोई और बात है.पुष्पा बोली इस राज का पता सिर्फ ऋतू और मेरे को ही है और अब तुझे और ममता को भी पता चलेगा की मैं और रितु किस तरह सेक्स का मज़ा लुटते है. बात तबकी है जब ऋतू और उसका पति राज हमारे पड़ोस में आये और ऋतू पर श्री की नज़र पड़ी उसका मन हो चला इसकी गरम चूत मरने का क्योंकि यह है ही इतनी सेक्सी कि मर्द का लौड़ा तन्न खड़ा कर देती है और जब बिस्तर पर यह नंगी होके मर्द के निचे लेटती है तो उसे पांच से दस मिनट में अपनी चूत में जकड के झाड़ देती है. ऋतू बोली अब पुष्पा भाभी तुम भी न मेरी तारीफ जयादा ही कर रही हो तुम कौन सी कम हो तुम तो मर्द को खड़े खड़े ही वीर्यपात करवा देती हो यद् नहीं पिछली बार जब हम चारो वाइफ स्वापिंग के लिए मिले थे तो तुमने राज का वीर्य सोफे पर ही उसके तुम्हे छूते ही चोदने से पहले झडवा दिया था और मेरी छाती पर गिरवाने के बाद बड़े मजे लेले के चाटा था. पुष्पा ने ऋतू के होंठ अपने होंठों में दबाये और उसको चुस्ती हुई बोली हाँ मेरी जान कामुक ऋतू आज तेरी चुदाई मेरे नए मर्द से है और मैं इस मर्द का वीर्य भी तुझे चटवाने वाली हूँ देखती जा यह मेरी छाती पर झदेगा और तू उस वीर्य को ममता के साथ शेयर करके विर्यपान करेगी मेरी ऋतू.

Visit this user's website Find all posts by this user
Quote this message in a reply
01-07-2014, 12:04 PM
Post: #17
RE: मेरी भाभी पुष्पा
ऋतू बोली हाय भाभी वीर्य के साथ साथ इस मर्द का मूत भी पीना है मेरी जान पुष्पा आज तेरे राजू के लौड़े का मूत भी पिया जाये. पुष्पा बोली सब होगा मेरी रानी इस कामुक मर्द का एक एक अंग अपने काम में लिया जायेगा.मैंने इधर तब तक पुष्पा की गर्म चूत में अपना मुसल सा लौड़ा पेल दिया और पुष्पा को जन्नत का नज़ारा दिखाते हुए बोला मेरी भाभी पुष्पा कैसा लग रहा है अपने देवर राजू का लौड़ा. पुष्पा ने मुझे अपनी बाहों में समेट कर बोला आओ राजू भैया बड़ा अच्छा लग रहा है अपनी भाभी पुष्पा को मस्त चोद के उसकी गोल और नर्म छाती पर झडो और ममता और ऋतू के लिए गर्म मलाई की तय्यारी करो मेरे राजू. मैंने पुष्पा की दोनों छाती अपनी मुट्ठी में दबोची और बोला आओ मेरी नयी नवेली कुतिया तेरी छाती पर तेरी दोनों मादरचोद सहेलियों के लिए अपना वीर्यपात करू और देखू तेरी दोनों सहेलियां कैसे इस वीर्य को चाटती है. इतना बोलकर मैंने जोर जोर से पुष्पा की चूत चोदना शुरू किया और थोड़ी ही देर में हांफ गया फिर भी दम लगा के चोदता रहा और झड़ने के करीब पहुँच के मैंने लंड को पुष्पा की आग उगलती चूत से बाहर निकाला और उसकी चुचियों पर रगड़ने लगा पुष्पा ने मेरे लंड के सुपाड़े को सहलाना शुरू किया मेरी आँखें वासना के जोर से मुंदने लगी मैंने आँखें बंद रखी और अपना ध्यान ऐसे रखना शुरू किया की जल्दी झडूं नहीं मगर ऐसा हो नहीं पाया और थोड़ी ही देर में मुझे फिर से पुष्पा की छाती पर वीर्यपात करना पड़ा. मेरा वीर्य जैसे की पुष्पा के सीने पर गिरा ऋतू उसे चाटने को पुष्पा की छाती की ओर बड़ी मैंने बड़ी मस्ती के साथ ऋतू की चूत में उंगली पेल दी और कहा आओ मेरी जान ऋतू अपने इस नए मर्द का स्वाद लोगी ऋतू ने मेरा वीर्य चाटते हुए बोला आओ राजा आओ तुम्हे वो किस्सा सुनाती हूँ जब मैं और श्री एक साथ चुदाई को तैयार हुए थे मैंने भी उत्साहित होकर ऋतू के चुचे दबोच लिए ओर बोला बोल मेरी जान अपनी मस्त चुदाई का किस्सा सुना की तू और पुष्पा एक दुसरे के पति का वीर्य क्यों चाटती हो और राज और श्री तुम दोनों की चूत के रस में भीगी हुई पैंटी क्यों चूसते है.

Visit this user's website Find all posts by this user
Quote this message in a reply
Post Thread Post Reply




Online porn video at mobile phone


kathleen kinmont sextamala jones sex khubsurat ladki Sabke Samne sexy sir xxx video x min 30Me hu randi roj 4se5 land khati hulara dutta sex storiesyum stories major sahabblackmail chudaiemily atack toplesstoccara jones nudegreta scacchi toplesstina obrien nudeचूची को मत खिचोkajol gaandsreya sex picschelsea handler upskirtmastram ki ajnabi gunday ni ki chudisandwich k traha lita k aage piche se do lund daleamber lancaster toplessamanda de cadenet nakedKyon se actress nange sote gumate haikamsin ladkibollywood actress sex kahanionly for boy nude ladka log ko sex kaise chadta hMaa n gand ka mall khilayaसलवार समीज पहने लडकी नगी नहातीnude linda cardellinibollywood pentylessannie potts nudebhai ne mahndi ki raat bahan ki seal tori xxxmadhuri dixit lund ko muh me letisuhasi dhami nudechoti bahan na bara bahi sa chodvax viedeos onlens mom ka sath sotai ma viedosbhap ne beti ki peshab picelina jaitley nipplesmanisha asssofia coppola nudesex story of shilpa shettyhouse wife xxx movie 1 gante walamaa ke samne bete ne gand marwae our didi ne dekhasuzi perry toplessamelle berrabah upskirtbrook langton nudemaine nashe me raat kogloria estefan nudeparvathi melton nudenude pics of velvet skyangelique boyer nudchoti behan ko goad me bitha ke chodaindian sdx storiestalisa soto toplessjane leeves nudevanessa lengies nudereema sen pussynargs sexnaked jill wagnerjane krakowski nudebitty schram toplesswww.budhy boos se shadi ki sex stories.comandrea petkovic nakedparizad nudeshannendohertynudetwinkle khanna upskirtरांडी रांड रांडी रंडवे की गंदी चूदाई की कहानीdenni parkinson nudepage brewster nudebhai ne behan ki choot ka phuda bana dalanude marsha thomasonBehan Shabnam ki gand chudaiaishwarya sakhuja boobsland wale hijara xxx apne ma ke sathnatasha barnard nakeddanay garcia nudejacqueline obradors nudechyler leigh nud