Current time: 10-21-2018, 12:25 PM Hello There, Guest! (LoginRegister)


Post Thread Post Reply
Thread Rating:
  • 0 Votes - 0 Average
  • 1
  • 2
  • 3
  • 4
  • 5
रीमा का बेटे से अनोखा रिश्ता
07-15-2013, 02:58 PM
Post: #1
Wank रीमा का बेटे से अनोखा रिश्ता
मेरी ये कहनी कालप्निक है। इसका काहानी का आधार एक औरत पर है जिससे मैंने एक चाट वेब पेज पर कयी बार बात की। उसके साथ कयी बार चाट रुम मै चुदायी भी कि । मैं उसको माँ बुलाता हुँ और वह मुझको बेटा । हम दोनो अलग अलग शहर मै रहते है और कभी भी मिले नही है । मेरा नाम दीपक है और मैं २६ साल का हुँ । मेरे लन्ड का साईज ८ इंच है ।

उसका नाम रीमा है। उसने जो मुझको बताया उसके आनुसार वह एक तालाक शुदा औरत है । उसकी उमर कोई ४८ साल की है और उसकी फ़िगर ३८ डी ३० ४२ कि है और वह दिल्ली मै रहती है। वह जिस औफ़ीस मै काम करती है उस के बॉस के साथ उसके संबन्ध है । उसका बॉस शादी शुदा है और कोइ २६ साल कि उमर का है । उसको कम उमर के लडको से चुदाने मे बडा मजा आता है । उसकी एक नौकरानी भी है जो कोई २० साल की है वह सेक्स मै उसका साथ देती है । उसको जवान लौन्डौ की कोई कमी नही है । वह अपने बॉस के साथ बहुत टूर पर जाती रहती और टूर पर वह अपने बॉस और कलाईन्ट के साथ चुदायी के मजे लेती है ।

हम लोगो एक चाट साईट पर मिले और हम लोगो मे चुदायी कि बातें होने लगी । मैंने उसको बतया कि मुझे बडी उमर की औरतें बहुत पसन्द है । उसने मेरे से पूछा कि किस बडी उमर कि औरत के बारे मे सोच कर मैं हस्थ मैथुन करता हुँ । मैने कहा अपनी माँ के बारे मे । उसने पुछा की मेरी माँ का नाम क्या है और वह कैसी दिखती है । मैं बोला कि मेरी माँ का नाम निर्मला है और उसका रंग गोरा है । उसके नयन और नक्श बहुत ही तीखें हैं । उसकी फिगर ३६ सी ३० और ४० है।

फिर हमने इस बारे मे बहुत सारी बातें कि जो आप लोगो को आगे पता चलेगी। वोह मुझ से चाट कर के बहुत मजा लेती थी। मुझे भी उसके साथ बडा मजा आता था। एक दिन उसने मुझ से कहा कि वह रियेल्टी मे मुझ से चुदाना चाहती है पर मैं बोम्बे मै रहता हुँ और उसका बॉस का बोम्बे मै कोई टूर नही होता । जिसकी वजह से हम लोग कभी भी मिल नही पाये थे। पर हम दोनो ने अपने फोन नम्बर और घर का पता एक दूसरे को बता दिया था। और एक दूसरे को कार्ड भी भेजते थे। और हम चाट रुम मे ही चुदायी का मजा लेते थे ।

फिर एक दिन जब हम चाट कर रहे थे तो वह बोली उसका बॉस बोम्बे मै एक नयी ब्रान्च खोलने कि सोच रहा है और इसके लिये वह लोग टूर पर बोम्बे आ रहे है । और उसने अपने बॉस से बात कि वह टूर समाप्त होने के बात चार दिन के लिये बोम्बे मे अकेले रुकना चाहती है होटल मे कम्पनी के खर्चे पर । और उसका बॉस इस बात के लिये राजी हो गया है ।

मैं तो यह खबर सुन कर बहुत खुश हुआ क्योकि अब हम वह सब कर सकते थे जो कि हमने करने कि चाट रूम मे बात कि थी । उसने कहा कि वह ताज होटल मे रुकने वाली है और उसका रूम नम्बर वह बाद मे मुझको फोन पर बतायेगी । उसने कहा वह ४ फरवरी को बोम्बे आ रही है और ८ फरवरी को मुझको फोन करेगी ।

पर ४ तारीख को उसका फोन आया कि वह बोम्बे पहुँच गयी है और बाद मैं मुझ को फोन करेगी । मैंने उसको कहा कि मैं उसके फोन का इंतजार करूगाँ । पर ८ तारीख को उसका फोन नही आया । मैंने सोचा कि शायद काम पूरा नही हुआ होगा । लेकिन फिर ९ और १० तारीख को भी उसका फोन नही आया अब तो मैं बहुत ही उतावला हो रहा था । सोचने लगा कि कहीं वह मजाक तो नही कर रही थी। पर मैं कर भी क्या सकता था उसके फोन के इंतजार के अलावा। फिर अगले दिन बुधवार था दोपहर को करीब एक बजे रीमा का फोन आया उसकी अवाज सुनते ही मेरा लंड खडा हो गया। मैंने पुछा तुमने फोन क्यो नही किया मैं तो सोच रहा था कि तुम फोन ही नही करोगी।

रीमा ने कहा कि ब्रान्च खोलने के बात पक्की हो गयी है इसलिये वह, उसका बॉस और यहां का मैनेजर मिल कर २ दिन से मौज कर रहे थे। दोनो ने मिल कर उसको दो दिन तक बहुत जम कर चोदा था। इसलिये दो दिन वह फोन नही कर पायी आज सुबह ही उसका बॉस वापस दिल्ली गया है। और वह सुबह से आराम कर रही थी जिससे की मेरे साथ पूरी तरह से मजा ले सके। लेकिन उसको पहले से ही पता था कि वह मुझको ११ तारीख से पहले फोन नहीं कर पायेगी। मैने पूछा कि फिर तुमने बताया क्यो नही। रीमा बोली कि मैं तुम्को कुछ देर तडपाना चाहती थी। मुझको जवान लडको को तडपाने मे बडा मजा आता है। मैंने पूछा अब तो बताओ कि तुम्हारा रूम नंम्बर क्या है। रीमा बोली मुझ से मिलने के लिये तडप रहे हो। मैंने कहा हाँ।

थीक है बता देती हूँ तुम्को तुम भी क्या याद करोगे। मेरा रूम नंम्बर ५१४ है। मैंने कहा थीक है मैं अभी वहाँ पहुँच रहा हुँ। रीमा ने कहा वह भी बडी बेसबरी से मेरा इंतजार कर रही है। और जैसे हो वेसे ही चले आओ क्योकी वेसे भी इन चार दिनो मे मैं तुमको कोई कपडे तो पहनने दूंगी नहीं। बस अब चले आओ दौड कर अपनी माँ के पास। मैंने कहा थीक है माँ आता हूँ अभी। रीमा बोली कि मैंने अपने रूम के बाहर डू नॉट डिस्टर्ब का साईन लगा दिया है जिस से की जब घंटी बजेगी तो मैं समझ जाऊगीं कि तुम हो। मैंने कह ठीक है। फिर मैंने फोन रख दिया और अपने बॉस के पास गया मैंने छुट्टी के लिये पहले से ही बोल रखा था इसलिये कोई परेशानी नही हुई। नही तो जिस तरह की मेरी बॉस थी छुट्टी मिलना बिल्कुल ही नामुमकिन था।


फिर जल्दी से मैं टेक्सी पकड कर होटल पहुँच गया। मेरा दिल धक धक कर रहा था। मैं आज तक कुवाँरा था आज मेरे इस कुवाँरे लंड को चुदायी चुसायी का मजा मिलने वाला था। फिर मैं लिफ़्ट लेकर पाँचवे माले पर गया जहाँ पर रीमा का कमरा था। जैसे ही मैं गलीयारे से निकल कर रीमा के कमरे की तरफ़ जा रहा था तो दीवार पर लगे साईन को देख कर मैं समझ गया कि उसका रूम होटल के आलीशान रूम मे से एक था। थोडी देर मे मैं रूम तक पहुँच गया। फिर मैने धडकते हुये दिल से रूम कि बेल बजायी। अन्दर से रीमा की आवाज आयी आ रही हूँ दीपक बेटा। कुछ पल बाद कमरे का दरवाजा खुला। और मेरे सामने रीमा खडी थी



Visit this user's website Find all posts by this user
Quote this message in a reply
07-15-2013, 02:59 PM
Post: #2
RE: रीमा का बेटे से अनोखा रिश्ता
मैं अभी उसे ठीक से देख भी नही पाया था की उसने मेरा हाथ पकड कर मुझे अन्दर खीच लिया। और एक झटके के साथ दरवाजा बन्द कर दिया। मैं उसकी इस हरकत से एक दम सकपका गया। रीमा ने कहा अगर मैं तुम्को इस तरह से अन्दर नही खीचती तो तुम बाहर खडे खडे ही मुझ देखते रहते जो कि मैं नही चाहती थी। तुम्को मुझको देखना हे तो लो मैं तुमहारे सामने खडी हो जाती हूँ जी भर के देख लो। ऐसा कह कर वह मेरे सामने अपने दोनो हाथ कमर पर रख कर खडी हो गयी। खडी होने से पहले उसने अपनी साडी का पल्लू उतार कर अपनी कमर से नीचे गिरा दिया। ये सब इतनी ज्लदी मे हुआ था की मुझे उसको देखने का मौका भी नही मिला था। अब वह मेरे सामने थी और मैं जी भर कर उसको देख सकता था।

फिर मैंने अपनी नजर उसपर गढा दी। उसका रंग गोरा था उसने अपनी उमर मुझको ४८ साल बतायी थी पर वो अपनी उमर से करीब दस साल छोटी दिखती थी। उसकी आँखे बडी बडी थी। जिन मे वासना भरी हुयी थी। उसके होठ बडे बडे थे। जैसे कि अभिनेत्री सुमन रंगनाथन के हैं। मुझे इस तरह के होठ बहुत ही पसन्द हैं। उसपर उसने गहरे लाल रंग की लिपस्टिक लगा रखी थी। जो उसकी सुन्दरता को और बढा रही थी। उसके चहरे पर एक आमत्रंण का भाव था जैसे कह रही हो आओ और चुम लो मेरे होठों को।

फिर मेरी नजर उसके बदन पर गयी बडा ही भरपूर बदन था उसका। उसका गदराया बदन देख कर मेरा लंड पैन्ट के अन्दर ही उछलने लगा था। उसने हल्के गुलाबी रंग की साडी पहन रखी थी। उसका ब्लौस स्लीव लेस था। और उसमे कफ़ी गहरा कट था जिसकी वजह सी उसके बडे बडे मम्मे आधे से ज्यादा ब्लाउस से बाहर झाँक रहे थे। रीमा ने शायद बहुत ही टाईट ब्लाउस पहन रखा था क्योकी उसके मम्मो की दोनो बडी बडी गोलाईयाँ आपस मैं चिपक गयी थी। और एक गहरा कट बना रही थी। जो कि बडा ही सेक्सी लग रहा था। इस नजारे को देख कर मैं उत्तेजना से पागल हो रहा था। मेरे लंड का उभार मेरी पैन्ट से साफ़ दिखायी दे रहा था।

फिर मेरी नजर उसके पेट पर गयी। उसने साडी अपनी नाभी के काफ़ी नीचे पहनी थी। जिस से उसकी गहरी नाभी साफ़ दिखयी दे रही थी। उसकी नाभी की गहरायी देख कर मेरा मन उसको चूम लेने का हुआ। फिर मैं थोडी देर तक उसको ऐसे ही निहरता रहा। कुछ देर बाद रीमा ने कहा क्या हुआ बेटे कैसी लगी तुम्को अपनी माँ। मैंने कहा बहुत ही अच्छी। रीमा ने कहा वो तो तुम्हारे पैन्ट मे उभरते तुम्हारे लंड को देख कर पता चल रहा है। मैं उसको देख कर इतना गर्म हो गया था कि मेरा गला सुखने लगा। और मुझ को प्यास लगने लगी।

रीमा मेरे को देख कर शायद समझ गयी की मेरे को प्यास लगी है। बोली पानी चाहिये बेटा मेने कहा हाँ। ठीक है अभी लाती हूँ कह कर उसने अपनी साडी का आँचल उठा कर पेटीकोट मे ठूंस लिया और पलट कर पानी लेने चल दी। जैसे ही वह पल्टी सबसे पहले मेरी नजर उसके भारी भरकम चूतडो पर गयी। औरत के चूतड मेरा सबसे पसन्दीदा अंग है। और रीमा के चूतड तो बहुत ही बडे थे। उसने ऊँची ऐडी की सैंडल पहन रखी थी। जिस की वजह से जब वह चल रही थी तो उसके चुतड बहुत ही मस्ताने ठंग से मटक रहे थे। जेसे किसी फैशन शो मे मॉडल अपने चूतडो को मटका के चलती है वैसे ही।

एक तो उसको आगे से देख कर ही मेरा बुरा हाल था अब तो मैंने उसको पीछे से भि देखा लिया था मेरा लंड तो बिलकुल ही आपे से बाहर हो गया। वोह भी शायद जानती थी की उसके चूतडो का मुझ पर क्या असर होगा क्योकी मैं उस को बता चुका था की भारी चूतड मुझ को कितने पसन्द हैं। इसलिये मेज तक जाने मे जहाँ पर पानी का जग रखा था उसने बहुत देर लगायी जिस से मैं जी भर कर उसके चूतड और उनका मटकना देख सकूं।

फिर उसने जग उठाया और मेरी तरफ़ देखते हुये उसने गिलास मे पानी भरना शुरु किया। वह मुझ को देख कर मस्ती भरी नजरो से मुस्कुरा रही थी। पानी भरकर वह मेरी तरफ़ चल दी। उसके मस्त बदन ने मेरे उपर ऐसा असर किया था कि मैं अभी तक दरवाजे पर ही खडा था। उसने ऊँची ऐडी के सैंडल पहन रखे थे और जिस तरह से वह चूतड मटका के चल रही थी उसकी वजह से उसके बडे बडे मम्मे उसके कसे ब्लाउस मे फंसे हुये जोर जोर से उछल रहे थे। उसने पुरी तरह से मुझको अपने अधेड उम्र के हुस्न के जाल मे फसाँ लिया था।

लो पानी पी लो कह कर उसने गिलास मेरे हाथ मे थमा दिया। मैं पानी पीने लगा और पानी पी कर मैंने गिलास उसको दे दिया। जो देखा पसन्द आया मै मुस्कुरा कर बोला हाँ बहुत पसन्द आया। फिर यहाँ क्यो खडे हो चलो अन्दर बैठते हैं। फिर मैं उसके साथ चल दिया अन्दर आ कर मैं सोफ़े पर बैठ गया। अन्दर आने से पहले मैंने अपने जूते बाहर ही उतार दिये। रीमा भी मेरे पास आ कर बेठ गयी।

मैंने उसका हाथ अपने हाथो मे लिया और बोला माँ तुम बहुत सुन्दर हो। जैसा तुमने बताया था तो मैने सोचा था कि तुम सेक्सी हो पर तुम तो महा सेक्सी हो माँ। मेरा लंड तो तुमको देखते ही खडा हो गया था माँ। और अभी तक पुरी तरह टनटनाया हुआ है। देखो कैसे पैन्ट फाड कर बाहर आने को तैयार है। फिर तुमने इसको पैन्ट के अन्दर रखा ही क्यो है पैन्ट उतार कर अपने प्यारे लंड को मुझको दिखाओ। लाओ मैं तुम्हारे कपडे उतरने मे तुम्हारी मदद करती हूँ। मैंने कहा नही माँ मैं खुद ही उतार देता हूँ। तो वह बोली हर माँ बचपन मैं अपने बेटे के कपडे उतारती और पहनाती है। माँ ही होती है जो बेटे को कपडे पहनना और उतारना सिखाती है। मुझे तो वो मौका आज ही मिला है तुम इस तरह से मुझसे ये मौका नही छीन सकते।

Visit this user's website Find all posts by this user
Quote this message in a reply
07-15-2013, 03:09 PM
Post: #3
RE: रीमा का बेटे से अनोखा रिश्ता
रीमा की बात सुन कर मैं बोला ठीक है माँ तुम ठीक कह रही हो मैं इस तरह से तुम्हारा हक नही छीन सकता। मैं तैयार हूँ उतार दो मेरे कपडे। आज से जब तक मैं तुम्हारे साथ हूँ और जब भी हम मिलेंगे मेरे कपडे तुम ही उतारोगी और तुम ही पहनओगी। यह सुन कर वह बहुत खुश हो गयी और मेरे माथे पर किस किया जैसे एक माँ अपने बेटे को करती है। फिर वह मेरी कमीज के बटन खोलने लगी। उसके भरी पूरी गोरी बाँहे मुझको बहुत अच्छी लग रही थी। फिर उसने सारे बटन खोल दिये और बोली बेटा खडे हो जाओ जिस से मैं तुम्हरी कमीज उतार सकूँ।

मैं खडा हो गया रीमा भी मेरे साथ खडी हो गयी और पीछे कर के मेरी कमीज उतार दी। मैंने नीचे बनियान पहन रखी थी। मेरी कमीज उतार कर रीमा मेरी छाती पर हाथ फेरने लगी। और बोली तुम्हरी छाती कितनी चौडी है। तुम भी कोई कम हैडसम नही हो। तुम इतने सालो अपनी माँ से दूर रहे हो जिसकी वजह से तुम्हारी ये माँ तुमको कुछ प्यार भी नंही कर पायी। चिन्ता मत करो अब तुम मेरे पास आ गये हो अब मैं तुमको अपना सारा प्यार दूंगी। ऐसा कहते वक्त उसके आँखो मे वासना भरी थी। ऐसा कह कर उसने मेरी बनीयान भी उतर दी।

बनियान उतरते वक्त उसने अपने हाथ उपर किये उसने स्लीवलैस ब्लाउस पहन रखा था जिसकी वजह से उसकी काँख मुझको दिखायी दी। उसकी काँख के बाल काले और घने थे। मुझे काँख के बाल बहुत पसन्द हैं। उसकी काँख देखकर मेरी मस्ती और बढ गयी। बनियान उतार कर उसने कमरे के एक कोने मै फेंक दी। अब मेरी छाती पूरी नंगी हो गयी और वो अपने गोरे गोरे हाथ मेरी छाती पर धीरे धीरे फिराने लगी। जिसकी वजह से मेरी उत्तेजना बढने लगी और मेरे निप्पल कडे हो गये।


फिर रीमा ने अपनी एक उँगली को अपने थूक से गिला करके मेरे बाँये निप्पल पर फिरने लगी। और उसका दुसरा हाथ मेरी छाती पर धीरे धीरे चल रहा था। वोह अच्छी तरह से जानती थी कि किस तरह मर्द को मस्त किया जाता है। थोडी देर इसी तरह से मेरे निप्पल पर हाथ फेरने के बाद उसने अपना मुँह मेरे निप्पल पर रख दिया और उसे अपने होंठो के बीच लेकर चुसने लगी। उसके ऐसा करने से मेरे मुँह से एक दम से एक आह निकल गयी। इसका सीधा असर मेरे लंड पर हुआ। वोह मस्ती मे एक दम कडा को गया। अब उसका मेरी पैन्ट मे रहना बडा ही मुश्किल था।

वह मेरे दुसरे निप्पल को अपने हाथ के नाखून से जोर जोर से कुरेद रही थी। एक तो निप्पल चुसे जाने की मस्ती दूसरा निप्पल कुरेदे जाने की वजह से होता दर्द ने मुझे तो स्वर्ग मे पहुँचा दिया था। इस बेताह मस्ती के कारण मेरे मुँह से आह ओह के आवाज निकल रही थी। मैने अपने हाथ उसकी पीठ और एक बाँह पर रख रखा था। एक हाथ से उसकी बाँह मसल रहा था और दुसरे हाथ उसकी पीठ और कमर पर फेर रहा था। वोह करीब ३-४ मिनट तक ऐसे ही करती रही फिर रीमा बाँयी निप्पल छोड कर दाँयी निप्पल को चुसने लगी और बाँयी निप्पल को नाखुनो से कुरेदने लगी।

दुसरे निप्पल को अच्छी तरह से चुसने के बाद ही उसने मेरे को छोडा। फिर मेरी और देख कर आँखो मे आँखे डाल कर पूछा कैसा लगा बेटा माँ का तुम्हारी निप्पल चुसना। मैं बोला क्या बताँऊ माँ बस इतना कह सकता हूँ कि तुम्हारे इस बेटे को तुमसे बहुत कुछ सीखना है। सीखाओगी न माँ अपने इस अनाडी बेटे को। रीमा बोली जरूर बेटा आखिर माँ होती किस लिये है। माँ का तो ये कर्तव्य है के उसके बेटे की शादी से पहले उसे सेक्स की पूरी शिक्षा दे प्रेक्टिकल के साथ जिससे की उसकी पत्नी सुहाग रात को ये ना कह सके की उसकी माँ ने उसको कुछ भी नहीं सिखाया।


उसके मुहँ से ये बात सुन कर मैं बोला माँ तुम्हारे विचार कितने उत्तम हैं। अगर तुम जैसी सबकी माँ हो तो किसी भी बेटे को रंडी के पास जाने की जरूरत ही नही। सुन कर उसने मेरे होंठो पर किस कर लिया और बोली तुम बिल्कुल मेरे बेटे कहलाने के लायक हो। चलो मैं अब तुम्हारा लंड पैन्ट से बाहर निकाल देती हूँ। ये भी मुझको गाली दे रहा होगा कि बात तो लंड को बाहर निकालने की कर रही थी और निप्पलस को मजा देने लगी। कह रहा होगा कितनी निर्दयी है तुम्हारी माँ। नंही माँ मेरा लंड तो बल्की बहुत खुश है की मेरी माँ तुम हो।

वह तो कह रहा है की जिस तरह से तुम मेरी माँ हो तुम्हारी चुत उसकी माँ हुयी ओर जब तुम इतनी मस्त हो तो उसकी माँ और भी मस्त होगी वोह भी अपनी माँ से मिलने और उसकी बाँहो मै जाने के लिये बेचैन है। रीमा बोली उसके लिये तो उसको थोडा इंतजार करना पडेगा। पहले मैं अपने बेटे को और उसके लंड को तो जी भर के प्यार कर लूँ और अपने बेटे से अपने आप को और लंड की माँ को प्यार करा लूँ तब कही जा कर वोह अपनी माँ से मिल सकता हे समझे। मैंने कहा हाँ माँ तुम ठीक कह रही हो।

इतना कह कर रीमा ने मेरी पैन्ट खोलनी शुरु कर दी। जब रीम मेरी पैन्ट खोल रही थी तो उसकी नजर मेरी तरफ थी। वह मेरी तरफ देख कर मन्द मन्द मुस्कुरा रही थी। सबसे पहले उसने मेरी बेल्ट को निकाल कर फेंक दिया। ओर मेरी पैन्ट का बटन खोलने लगी। बटन ओर चैन खोल कर उसने कमर से पकड कर एक ही झटके मे मेरी पैन्ट नीचे कर दी और साथ मै खुद भी नीचे बैठ गयी। मैंने भी अपने पैर उठा कर पैन्ट निकालने मे उसकी मदद की।

उसने पैन्ट निकाल कर उसको भी एक कोने मे फेंक दिया। मैंने अन्डर वीयर पहन रखा था। रीमा का मुँह बिल्कुल मेरे लंड के सामने था। मेरा लंड पूरी तरह से खडा था जो कि मेरे अन्डर वीयर के उभार से पता चल रहा था। उसने मेरी तरफ़ देखा और अपनी जीभ बाहर निकाल कर अपने होठों पर फिराने लगी। जैसे कोई बहुत ही स्वादिष्ठ चीज देख ली हो। और फिर एक दम से आगे बढ कर मेरे लंड को उन्डर वीयर के उपर से किस करने लगी उन्डर वीयर की इलास्टिक से लेकर नीचे जाँघो के जोड तक। फिर रीमा ने मेरे उन्डर वीयर की को कमर से पकड कर एक ही झटके मैं खीच कर उतार दिया।

मेरा लंड उत्तेजना के कारण मस्त होकर बुरी तरह से खडा हो गया थ। जैसे ही रीमा ने मेरा उन्डर वीयर उतारा मेरा लंड उसके मुँह के सामने एक लम्बे साँप की तरह फुँकार मारते हुये नाचने लगा। मेरा लंड देख कर रीमा बोली हाय रे इतना बडा लंड है मेरे बेटे का। फिर उसने मेरे लंड को अपने हाथ मे पकड लिया। जैसे ही उसने मेरे लंड को अपने कोमल हाथो मे पकडा मुझे ऐसा लगा ४४० वोल्ट का करंट लगा हो। मेरे लंड का हाल तब था जबकी उसने अभी तक एक भी कपडा अपने बदन से नही उतारा था। मैं सोचने लगा कि जब मैं उसको नंगा देखुँगा तो मेरा क्या हाल होगा।

रीमा मेरे लंड को अपनी एक हथेली मे रख कर दूसरे हाथ से उसको सहला रही थी जैसे किसी बच्चे को प्यार से पुचकारते हैं। थोडी देर तक इसी तरह मेरे लंड को पुचकारने के बाद रीमा उठ कर खडी हो गयी और बोली लो निकाल दिया मैंने तुम्हारे लंड को बाहर। अब हम चल कर बैठते हैं और थोडी प्यार भरी बातें करते हैं। फिर मैं सोफे पर बेठ गया और रीमा से बोला आओ माँ मेरी गोदी मैं बैठ जाओ। हम लोग जब चाट किया करते थे तब भी सबसे पहले मैं रीमा को अपनी गोदी मे बिठा लेता था। रीमा थोडी सी मुस्कुरायी और आ कर मेरी गोदी मे बैठ गयी।

Visit this user's website Find all posts by this user
Quote this message in a reply
07-15-2013, 03:09 PM
Post: #4
RE: रीमा का बेटे से अनोखा रिश्ता
रीमा इस तरह से मेरी गोदी मे बेठी थी की मेरा लंड उसकी गाँड की दरार मे फंसा था। जैसा की मुझको मेरे लंड पर महसूस हो रहा था। उसने अपनी पीठ मेरे कंधे से लगा ली थी और अपनी गोरी दाँयी बाँह मेरे गले के पीछे से निकाल कर दुसरे हाथ से पकड ली। ओर मैंने पीछे से अपने हाथ उसके कमर मे डाल कर उसके नंगे पेट को पकड लिया। उसके इस तरह से बैठने के कारण उसकी भारी भरकम चूचियाँ मेरे मुँह के सामने आ गयी। साथ ही साथ उसके मस्ताने चुतडो का दवाब मेरे लंड पर पड रहा था। मैं अपने आप को बडा ही खुशकिस्मत समझ रहा था इतनी मस्तानी औरत मेरी गोद मे बैठी थी।

मेरी नजर उसकी बडी बडी गोलाईयो की तरफ़ थी। चुचियो के बीच की दरार ऐसी थी जैसे कि निमंत्रण दे रही हो कि आओ और घुसा दो अपना मुँह इस खायी के अन्दर। फिर रीमा ने पूछा अब बताओ बेटा कैसी लगी तुमको अपनी ये बेशर्म माँ। मैंने कहा बहुत ही मस्तानी सेक्सी महा चुदक्कड चुदासी और रस से भरपूर। इस पर रीमा मुस्कुरा दी और बोली ऐसे शब्द कोई भी औरत किसी मर्द से अपने बारे मे सुने तो बस निहाल हो जाये। और तुमने तो ये सब मेरे लिये कहा अपनी माँ के लिये, सुनकर मेरा दिल गदगद हो गया। इसका मतलब है की मैं तुमको रिझाने मे सफ़ल रही।

तुमने मुझको बताया था की तुम्हारी उम्र ४८ साल है पर देखने से तुम उससे दस साल छोटी दिखती हो। ये तो तुम्हारी मुझे देखने की नजर है बेटा नही तो उम्र तो मेरी ४८ ही है। लेकिन तुम्हारे मुँह से अपनी तारीफ सुन कर मुझे बडा अच्छा लगा। फिर मैं बोला माँ तुमसे एक बात पूछना चाहता हूँ। रीमा बोली पूछो। मैं जब से आया हूँ मैंने गौर किया हे की तुम्हारा ब्लाउस काफी तंग है। जिसकी वजह से तुम्हारी चुचियाँ ब्लाउस को फाड कर बाहर आने को तैयार है। लगता है कि एक हफ़्ते बोम्बे मे रह कर चुचियाँ मसलवाने से बडी हो गयी है जिसकी वजह से तुम्हारा ब्लाउस छोटा हो गया है।

मेरी बात सुनकर रीमा खिलखिला कर हँस पडी और बोली नही बेटा ब्लाउस तो मेरा एक दम नया है। बोम्बे आने से पहले सिलवाया है। मैंने जानबूझ कर एक इन्च छोटा बनवाया था जिससे मैं इस तुमको रिझाने के लिये इस्तमाल कर सकूँ। जिससे मेरी चुचियाँ और भी बडी बडी लगे। मुझे पता है की तुमको ब्लाउस मे से छाँकती चुचियाँ कितनी पंसन्द है। इसीलिये गले का कट भी नोर्मल गहरे कट से थोडा ज्यादा रखा है। इस ब्लाउस को पहन कर मैं बाहर तो जा ही नही सकती नही तो लोग मेरा सडक पर ही बालात्कार कर देगें। ये तो स्पेशल ब्लाउस है जोकि मैने अपने बेटे के मस्ती बढाने के लिये बनवाया है।

ओह माँ तुम अपने बेटे का कितना ख्याल रखती हो। रीमा ने कहा अगर माँ अपने बेटे का ख्याल नही रखेगी तो कौन रखेगा। फिर मैंने कहा कि तुम ठीक कह रही हो माँ। मैंने तुम्हारे काँख के बाल भी देखे ऐसा लग रहा है कि जैसा तुम १ महिने पहले छोटे कराने को कह रही थी पर तुमने छोटे किये नही। रीमा बोली बेटा मैं छोटे करना तो चाहती थी पर २-३ दिन मेरे बॉस के कुछ कलाइन्ट आ रहे थे तो मुझे उन को खुश करना था। इसलिये काट नही पायी फिर मेरे बॉस ने बोला कि बोम्बे जाने का प्रोगाम बन सकता है । तो मैंने सोचा कि फिर तुमसे भी मिलना हो सकता है तो क्यो ना और बढा लेती हूँ। वैसे भी तुम्को मेरे काँख के बाल बहुत पंसन्द है और इतने बडे बाल देख कर तो तुम बहुत खुश होगे। हाँ माँ मैं बहुत ही खुश हूँ कि तुमने बाल नही काटे।


माँ तुम्हारे होंठ भी बडे सुन्दर हैं तुमने कभी बताया नही कि तुम्हारे होंठ बडे बडे और इतने उभार दार हैं। मुझको इस तरह कि होंठ बहुत पंसन्द हैं। रीमा बोली मैं सोचती थी सब मर्दो को पतले होंठ पंसन्द होते है। अगर मैं तुम को बता दूंगी तो शायद तुम मुझसे बात करना पंसन्द करो या नही। तुम जैसे बेटे कहाँ मिलते हैं। मैं तुमको खोना नही चाहती थी इसलिये नही बताया। मैंने पुछा की यह भी तो हो सकता था कि मैं यहाँ आकर तुम्हारे होठ पंसन्द नही करता और चला जाता। रीमा ने कहा मुझे उसका थोडा सा डर था इसलिये ही मैंने तुमको लुभाने के लिये कसा हुआ ब्लाउस बनवाया था। तुमको बुरा लगा क्या बेटा आई एम सोरी बेटा।

ऐसा कह कर उसने अपनी आँखे नीची कर ली और उसका चेहरा उदास हो गया। मैंने कहा माँ इसमे इतना उदास होने की बात क्या है। तुमको तो खुश होना चाहिये कि मुझे तुम्हारे होंठ पंसन्द आये। उसने मेरी तरफ़ देखा और मुस्कुरा दी और मुझको गले से लगा लिया। और बोली बेटा तुम्हारी माँ अपनी असली जिन्दगी मैं चाहे जितनी भी बडी रंडी हो पर तुमको बहुत प्यार करती है। मेरे अपना तो कोई बेटा है नही लेकिन मैंने तुमको ही अपना बेटा माना है। अपनी माँ से कभी भी नफ़रत मत करना बेटा। नही माँ कभी नही कह कर मैंने भी रीमा को अपनी बाँहो मे जकड लिया। और उसकी पीठ पर हाथ फेरने लगा।

अब तक मैं यही सोच रहा था कि हम दोनो के बीच सिर्फ वासना का रिश्ता पनप रहा है। लेकिन मुझे आज पता चला कि चाहे हम दोनो एक दूसरे के पास वासना कि वजह से आये हों पर रीमा सच मे मुझे एक बेटे कि तरह प्यार करने लगी थी। और असली जिन्दगी मे वह बहुत ही अकेली थी। और अकेली होने कि वजह से ही शायद इस समाज से लडने के लिये वोह अपने बॉस की रंडी बनी हुयी थी। मैंने भी सोच लिया था की इन चार दिन मैं उसको इतना प्यार दूंगा कि वोह इन दिनो को कभी भी नही भूल पायेगी।


फिर रीमा पहले कि तरह बैठ गयी और बोली मैं भी क्या बात ले कर बैठ गयी तुमको मेरे होंठ पंसन्द आये मैं बहुत खुश हूँ। और बतओ मेरे शरीर के बारे मैं और क्या क्या तुमको अच्छा लगता है। मैंने कहा माँ मुझे तुम उपर बाल से लेकर पैरो तक पूरी की पूरी अच्छी लगती हो। रीमा बोली तो फिर बताओ हर अंग के बारे मे तुम्हारे मुँह से मुझको अपनी तारीफ अच्छी लग रही है। तुम्हारी ये गोरी गोरी माँसल बाँहे मुझे अच्छी लगती हैं इतना कह कर मैंने उसकी बाँहो हो कोहनी के उपर से चूम लिया। ऐसा ही मैंने दुसरी बाँह के साथ भी किया।

मुझे तुम्हारी ये बडी बडी आँखे अच्छी लगती है। कितनी गहरी है। और इन आँखो मे मेरे लिये प्यार और वासना झलकती है। माँ के प्यार के साथ छुपी हुयी एक अधेड उम्र की औरत की वासना इनको और भी रहस्यमयी बना देती है। और मेरा मन करता है कि इनको प्यार करू। रीमा ने कहा तो कर लो प्यार कौन मना कर रहा है। यह कह उसने अपनी आँखे बंद कर ली फिर मैंने पहले दाँयी आँख पर किस किया फिर बाँयी आँख पर। और फिर रीमा ने अपनी आँखे खोली और मेरे गाल पर किस कर लिया और बोली की तुम बहुत ही प्यार बेटे हो।

फिर मैंने कहा मुझे तुम्हारा ये नंगा पेट भी अच्छा लगा क्योकी तुमने साडी नाभी के नीचे पहनी है और तुम्हारी बडी गहरी नाभी दिखायी दे रही है जो मेरी मस्ती को और भी बढा रही है। और मेरा लंड तुम्हारी गाँड के बीच मे फंसा तडप रहा जैसे मछली पानी के बाहर तडपती है। इस पर रीमा ने कहा ओह मेरे प्यारे बेटे मैं तुम्हारे लंड को इस तरह से तडपाना तो नही चाहती पर क्या करू अभी उसके मजा लेने का वक्त आया नही है। उसे तो अभी तडपना होगा मेरे लिये क्योकी मेरे को तो अभी अभी ही थोडा थोडा मजा आना शुरू हुआ है। लेकिन अगर तुम कहोगे तो मैं तुम्हारे लंड को तडपाँगी नही। लेकिन अगर तुम मेरे कहे अनुसार चलोगे तो मैं तुमसे वादा करती हूँ कि तुमको बहुत मजा आयेगा।

Visit this user's website Find all posts by this user
Quote this message in a reply
Post Thread Post Reply




Online porn video at mobile phone


prachi desai pussymiranda kerr pantyhosesex story didi ko range hath pakda dusro se chudvateSleeping pills dekar principal ko. ChodaDesi incest chudai kahani bhai maa behn aaahhh uffff long storyfarrah fawcett fakesmalayalam actress hot storieshello Karol bhej dijiye filmnude nathalie kelleyfrankie sandford nip slipeliza coupe fakeschote ye bahut bada hai train me dalavanessa marcil fakesashleigh brewer nudegina phillips nakeddeepika padukone fucked storylinda lusardi nuderakhi sawant upskirtchrissie chau nakedelisa gonzalez nudejulia alexandratou nudebaap ne beti ka rap kardya pronApni anti ko gilti sy choda sexi storySachs kahaniyasexBache or aorat kisexy baat chitwww sex all HD videos come new chodte hue mutnamanjari fadnis sexexbii bhaartiya naarinikki grahame toplessshoshanna lonstein nudegarcelle beauvais nip slipMere birthday me bhabhi ne apni chut di jam kr choda Maja aa gya bhabhi komaa bete ki pyarisi sex story in hotelkarishma kapoor sex storiesRaveena Tandon ki nighty wala photo chahiyedidi pair pisal gai sex storychristina surer nudeakeli bahu ko sex karna inlow xxxsaxi ranidollicia bryan nudesurranne jones nudeanne potts nudepaula garcés nudetetanus ka kon sa injection lagana chahiyeलडकि कि चुत के नीचे चढ्ढि सफेद होनाHata Kati lugai ki sexy video gaand mein lund dalne kimom ki pant phar kr chut li sote hueVicky chut chusi Jati video comakeli bahu ko sex karna inlow xxxmahak chahal nudenancy travis nudemeri pyari aunty ka whisper niche gir gya hindi videos amisha patel boopstrisha krishnan nude picliza neha didi ki moti gand dilaymare dardnaak chudai choot sooj gaix vedio chus se mautho ka chuse pussy komeri pyasi chut umm uffBhabi ko doston sy chudwaya sen kahanikate gosselin nipplemalaika arora armpitsतारक मेहता का नगा चश्मा Xxx video valerie bertinelli nudekarri turner toplessjessica bratich nakedtollywood heroins sex storiesxxx sex ladkiyon ke liye Palkon Ki Kaise hdsamaire armstrong nude picsmai tujhe apna amrit rus pilaungiगांव की कोरी छोरी की चुत गांड चुदाईanni friesinger nuderamya divya nudeholly valance fakeskhalid bhai irshad bhai bahan incestdaniela denby ashe nakedbiwi ki madad se maa ko chodaBabita ji ka doodu nikal jata hai sex storuबीवी की अदला बदली करके चुदाई की आग मन मेंgerra zemanimaura tierny nudejethalal or sweta tiwari ki chudai storyMom ne lund per tel lagayanip pokieHaste. Mitun. Kariya. Krana. Acha. He..eshtorylinda lusardi nudeरांडी रांड रांडी रंडवे की गंदी चूदाई की कहानीchoda jor se aho aho nude sex vidiobahan ke chakker me maa chudaigaby spanic nudedidi or maa ko shimla mein chodawww saniya mirza sexlaurie holden nudefrancine ecw nudeanni friesinger nudeanthea turner nudetia carrere nude fakesxxxn com in hd mejiska boor me baar hoconstance jablonski nudejosie goldberg nude